Competition Community
IT Help: 9993555585, Other Inquiry: 7747901111

पहली जिनोम मैपिंग परियोजना

kausarjahan राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

हिंद महासागर : पहली जिनोम मैपिंग परियोजना

हिंद महासागर में नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ ओशनोग्राफी (आई एन ओ)
जीनोम मैपिंग की अपनी तरह की पहली परियोजना शुरू करेगी।

हिंद महासागर में पृथ्वी की सतह का लगभग 20% हिस्सा है और इसलिए यह दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा जल क्षेत्र है। वैज्ञानिक आधुनिक आणविक बायोमेडिकल तकनीकों, आनुवांशिक अनुक्रमण और जैव सूचना विज्ञान का उपयोग हिंद महासागर के पारिस्थितिकी तंत्र की गतिशीलता को समझने के लिए करेंगे।

आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम तट से रवाना हुई शोध पोत सिंधु साधना NIO  की टीम अनुसंधान परियोजना पर हिंद महासागर में 10000 समुद्री मील से अधिक की दूरी तक 90 बिताएगी ताकि जीवन कोषीय स्तर पर महासागर की आंतरिक प्रणालियों को प्रकट किया जा सके। समुद्री जीवन से जीन और प्रोटीन की पहचान करने की कोशिश करेगी।

लक्ष्य ‌‌: इसका उद्देश्य हिंद महासागर में सूक्ष्मजीवों के जीनोम मैपिंग के नमूनों को इकट्ठा करना है।

जलवायु परिवर्तन पोषक तनाव और बढ़ते प्रदूषण के लिए जैव रसायन और महासागर की प्रतिक्रिया को समझना भी आवश्यक है।

लागत: परियोजना की लागत और अवधि ₹25 करोड़ है और इसे पूरा करने में लगभग 3 साल लगेंगे।

You May Also Like..

नेताजी एक्सप्रेस और पराक्रम दिवस

नेताजी एक्सप्रेस और पराक्रम दिवस

ख़बरों में क्यों? नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती के अवसर पर भारतीय रेलवे ने अपनी सबसे पुरानी […]

VANADIUM

चर्चा में Vanadium

खबरों में क्यों? अरूणाचल प्रदेश भारत के लिए वेनेडियम धातु का प्रमुख उत्‍पादक राज्‍य बनकर उभरा है। यह क्या है? […]

VERTICAL AND HORIZONTAL RESERVATIONS

VERTICAL AND HORIZONTAL RESERVATIONS

The Supreme Court clarified the position of law on the interplay of vertical and horizontal reservations. The decision in Saurav […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *